What's New

From Chairman’s Desk

Net Banking

Netbanking facility is now available.

Login to Netbanking

HPSCB Deposits

HPSCB offers a wide range of deposit plans.

Know More

HPSCB Loans

HPSCB offers various loans to your needs.

Know More

Interest Rates

HPSCB offers amazing interest rates.

Know More

Branches Network

The Bank has rolled its 241 branches/Ec's on Core Banking Solution.

View Branches

संदेश

सर्वप्रथम मैं बैंक के समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों को बतौर बैंक के अध्यक्ष मेरे मनोनयन के उपलक्ष्य पर संप्रेषित शुभकामनाओं हेतू हार्दिक धन्यवाद व आभार व्यक्त करता हूँ A मैं आभारी हूं प्रदेश के लोकप्रिय एवम ऊर्जावान मुख्यमंत्री] श्री जय राम ठाकुर जी का] जिन्होंने मुझे प्रदेश के शीर्ष संस्थान का दायित्व सौंप कर नेतृत्व करने का अवसर प्रदान किया A मुझे प्रतीत होता है कि मैं उन चुनिंदा व्यक्तियों में से एक हूँ जिन्हें इस बैंक का दो बार नेतृत्व करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ A अपने पूर्व के लगभग सवा वर्ष के कार्यकाल में भी मेरा प्रयास रहा कि बैंक के समग्र आधारभूत ढाँचागत संरचना को सुदृढ़ कर व नयी प्रौद्योगिकी और तकनीक का बेहतर समावेश कर बैंक के व्यवसाय में बढ़ौतरी के साथ -२ संस्था की लाभप्रदता को कायम रखा जा सके A

प्रिय मित्रो ] जैसाकि आप सभी जानते हैं कि आज का दौर कठिन प्रतिस्पर्धा का दौर है और बैंकिंग क्षेत्र भी इससे अछुता नहीं है A वैश्विकरण के इस बदलते दौर में ] जहाँ नित प्रतिदिन बदलाव देखने को मिल रहे हैं और अपने प्रतिद्वंदियों से कड़ी चुनोतियाँ मिल रही है A इन सब के मध्यनज़र प्रतिस्पर्धा में रहने के लिए हम सब को मिलकर कंधे से कंधा मिलाकर इस संस्था के सर्वांगिण विकास व उत्थान के लिए कड़ा परिश्रम कर इस बैंक को सफलता की नई उंचाईओं पर शिरोधार्य करना है A मैं मानता हूँ कि यह तभी संभव है जब हम सब मिलकर एक सशक्त टीम भावना से कार्य कर अपने -२ सामर्थ्यानुसार अपना बेहतर इस संस्था को दें A साथ ही जो हमारे बहुमूल्य ग्राहक हैं उन्हें भी हर प्रकार की आधुनिक बैंकिंग सुविधायें हम अपनी शाखाओं के माध्यम से उनके घर द्वार पर प्रदान करने में सक्षम हो सकें A और अपनी योजनाओं को अधिक प्रतिस्पर्धात्मक ग्राहक मैत्री बनाने का प्रयास करें A

इस बैंक परिवार का मुखिया होने के नाते मैं आप सब को विश्वास दिलाता हूँ कि यह संस्थान हम सब का है और बैंक की विकास रूपी गाथा को हम मिलकर पूरी तन्मयता व परिश्रम के बूते सतत्त जारी रखने में सफल होंगे A साथ ही अपने समस्त कर्मचारियों के हितों की रक्षा करना मेरा सर्वोपरी दायित्व होगा A आओ हम सब मिलकर अपने इस बैंक रूपी परिवार को सफलता की नयी बुलंदियों में स्थापित कर एक नई इबारत लिखें A

जय हिन्द ! जय सहकार !

खुशी राम बालनाहटा
अध्यक्ष बैंक